+

क्या मोदी सरकार ऐसे कोर्इ उपाय करेंगी, जिससे भारत में फल-फूल रहा लाखों करोड़ का राजनीतिक व्यवसाय बंद हो जाय ?

+

दस सालों के कुशासन पर कोर्इ रंज नहीं, एक साल के सुशासन पर सवालों की बौछार क्यों ?

+

सत्ता खोने से पाप नहीं धुल जाते, पापी कभी पुण्यात्मा नहीं बन जाते

+

काले धन का सांप विदेश भाग गया, फिर उस पर कानूनी लठ बरसाने का औचित्य ?

+

हम भारतीयों के लिए अच्छे दिनों की आस क्या दु:स्वपन ही बन कर रह जायेगी ?

+

अरिवन्द केजरीवाल अराजक और निरंकुश तानाशाह बन कर उभरे हैं

+

काले धन और भ्रष्टाचार को गम्भीरता से नहीं लेना, मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी होगी

[kleo_post_count type=”315″]

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

©[2015] All Rights Reserved - Nayabharat.co.in

Shares
Powered By Indic IME

Log in with your credentials

Forgot your details?